rajasthan राजनीति राज्य

राजस्थान / कांग्रेस में जिन पर प्रचार और प्रबंधन का था जिम्मा, वे खुद प्रत्याशी बनकर चुनावी मैदान में उतरे

जयपुर. कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के प्रचार-प्रबंधन के लिए 9 कमेटियां बनाई थीं, लेकिन इनमें से 8 कमेटियों के चेयरमैन खुद चुनावी मैदान में प्रत्याशी बनकर ताल ठोक रहे हैं। महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष और प्रोटोकाल कमेटी की चेयरमैन रेहाना रियाज ही एकमात्र ऐसी हैं, जो चुनाव नहीं लड़ रहीं।

कोआर्डिनेशन कमेटी

  1. इस कमेटी के चेयरमैन अशोक गहलोत है। वह जोधपुर के सरदारपुरा से चुनावी मैदान में है। नामांकन के बाद अपने क्षेत्र में चुनाव प्रचार करने में जुट चुके हैं।
  2. इलेक्शन कमेटी

    इलेक्शन कमेटी के चेयरमैन सचिन पायलट टोंक विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं। पायलट ने भी नामांकन के तुरंत बाद से प्रचार अभियान शुरू कर दिया।

  3. कैंपेन कमेटी

    रघु शर्मा को कंपेनिंग कमेटी की कमान दी गई थी। प्रदेश में कैंपेनिंग शुरू होती उसके पहले वह अजमेर के केकड़ी से चुनावी मैदान में उतर चुके हैं। खुद का चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

  4. घोषणा पत्र कमेटी

    कांग्रेस में हरीश चौधरी घोषणा पत्र कमेटी के चेयरमैन हैं। लेकिन वह बाड़मेर के बायतू से चुनाव लड़ रहे हैं। अभी तक कांग्रेस की ओर से घोषणा पत्र तैयार नहीं हो पाया है।

  5. मीडिया-कोआर्डिनेशन कमेटी

    विधायक गोविंद सिंह डोटासरा को दी गई थी, सीकर के लक्ष्मणगढ़ विधासभा से चुनाव लड़ रहे हैं।

  6. अनुशासन समिति

    पूर्व मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल अनुशासन समिति के चेयरमैन हैं। लेकिन वह चुरु जिले के सुजानगढ़ से चुनावी मैदान में है। मेघवाल ने भी प्रचार में जुट चुके हैं।

  7. पब्लिसिटी-पब्लिकेशन कमेटी

    सीपी जोशी पब्लिसिटी और पब्लिकेशन कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है। वह राजसमंद के नाथद्वारा से चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेस की पब्लिसिटी करने के बजाए नाथद्वारा में जमे हैं।

  8. ट्रांसपोर्ट एंड एकोमोडेशन कमेटी

    पूर्व मंत्री परसादीलाल मीणा को ट्रांसपोर्ट एंड एकोमोडेशन कमेटी के चेयरमैन है। लालसोट से चुनाव लड़ रहे हैं