Breaking News अन्य खबरें देश होम

भारत से भी सख्त हैं इन देशों में Traffic Rules

 सड़क हादसों में सबसे ज्यादा मौत वाले देशों की रेस से बाहर निकलने के लिए भारत सरकार ने एक सितंबर से नया मोटर वाहन अधिनियम 2019 (New Motor Vehicle Act 2019) लागू कर दिया है। इसके बाद से तमाम राज्यों और राजनीतिक दलों में हायतौबा मची हुई है। कई राज्यों ने नया मोटर व्हीकल एक्ट 2019 लागू ही नहीं किया है, तो कुछ ने इसका जुर्माना कम करने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिख दिया है। हालांकि, आपको जानकर हैरानी होगी कि सख्त ट्रैफिक नियमों वाला भारत इकलौता देश नहीं है।

कई ऐसे देश हैं, जिनका यहां ट्रैफिक चालान का जुर्माना भारत से कई गुना ज्यादा है। भारत से बहुत छोटे और आर्थिक रूप से पिछड़े देश भी सख्त यातायात नियमों के मामले में हमसें कहीं आगे हैं। यहां भारी जुर्माने के साथ सजा का भी प्रावधान है। कई जगहों पर लोगों को जुर्माना भरने के लिए लोन तक लेना पड़ जाता है या वह अपने क्रेडिट कार्ड आदि से भारी जुर्माने का भुगतान करते हैं। यहां यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माना एक महीने की तनख्वाह से भी काफी ज्यादा होता है।

अमेरिका में जुर्माना
बिना सीट बेल्ट – 25 डॉलर (करीब 18000 रुपये)
बिना लाइसेंस – 1000 डॉलर (करबी 72,000 रुपये)
बिना हेलमेट – 300 डॉलर (करीब 22,000 रुपये)
नशे में ड्राइविंग – तीन महीने के लिए लाइसेंस निरस्त व जुर्माना
ड्राइविंग के दौरान फोन का इस्तेमाल – 10 हजार डॉलर (7.23 लाख रुपये)

सिंगापुर में जुर्माना
बिना सीट बेल्ट – 8000 रुपये
बिना लाइसेंस – 3 लाख रुपये
नशे में ड्राइविंग – 5000 डॉलर (करीब 3.59 लाख रुपये) व 3 माह जेल, दूसरी बार 7 लाख का जुर्माना
ड्राइविंग के दौरान फोन का इस्तेमाल – 1000 डॉलर (72,000 रुपये) या 6 माह की सजा

रूस – यहां यातायात नियमों का पालन करना ही पर्याप्त नहीं है। आपको अपनी गाड़ी भी साफ और सुंदर रखना जरूरी है। गाड़ी गंदी होने पर भी यहां 3000 रूबल (करीब 3240 रुपये) का चालान कट जाता है। खतरनाक तरीके से वाहन चलाना (रैश ड्राइविंग) यहां गंभीर अपराध की श्रेणी में आता है। गाड़ी में बैठे प्रत्येक व्यक्ति को सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य है। नशे में गाड़ी चलाने पर 50 हजार रूबस (लगभग 54000 रुपये) का चालान होता है। साथ ही तीन साल तक के लिए ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त कर दिया जाता है।