India China Dispute No Indian Solider Missing in Galwan Action Says MEA | लद्दाख हिंसा के बाद से हमारे कितने जवान लापता हैं? MEA ने दिया जवाब

0
230

नई दिल्ली: भारत-चीन (India-China Border Dispute) के बीच सीमा पर तनातनी कम होने का नाम नहीं ले रही है. इस बीच विदेश मंत्रालय (MEA) ने गुरुवार को कहा कि भारत और चीन अपने दूतावासों के जरिए एक दूसरे के संपर्क में हैं और बातचीत के माध्यम से सभी मतभेदों को हल करने पर काम कर रहे हैं. इतना ही नहीं मंत्रालय ने साफ किया कि लद्दाख में हिंसा के बाद से कोई भी भारतीय जवान लापता नहीं है.

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘हम भारत की अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं. दोनों पक्षों के सैन्य अधिकारी संपर्क में हैं और हम बातचीत के माध्यम से टकराव को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं.’ 

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी पर विदेश मंत्री का पलटवार, बताया- क्यों सीमा पर जवानों ने नहीं चलाए हथियार

गलवान घाटी पर भारत-चीन के टकराव पर बात करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, ‘जब हम सीमा क्षेत्रों पर शांति और शांति बनाए रखने और बातचीत के माध्यम से मतभेदों को सुलझाने के लिए आश्वस्त हैं. जैसा कि कल (बुधवार) को पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कहा था. हम भारत की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘भारतीय गतिविधियां LAC के भारतीय सीमा तक ही सीमित हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘पीएम मोदी ने चीन को अपनी सीमा प्रतिबंधित करने और एलएसी पर सुधारात्मक कदम उठाने के लिए कहा है.’

सीमा पर टकराव के दौरान भारतीय सैनिकों के गायब होने की बात पर उन्होंने कहा, ‘हम भारतीय सेना के बयान का समर्थन करते हैं. कोई भी भारतीय सैनिक कार्रवाई में गायब नहीं है. हम स्पष्ट करते हैं कि कोई भी जवान चीन की कैद में नहीं था.’



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here